शुक्रवार, 16 अगस्त 2013

इस सूची को और लंबा करे



पाँच अगस्त को मित्रों से गुजारिश किया था की आप हिंदी साहित्य के धनुर्धरों का नाम यहाँ देखें, अगर कुछ छुट गए हों और आपको उनका नाम स्मरण है, तो इस श्रृंखला में जोड़ें। अब तक लिस्ट पूरा नहीं हुआ है - आप भी योगदान दें - आभार
एक गुजारिश- इसे शेयर भी करें, आभारी
भारत में "अपनी भाषा हिन्दी" के माध्यम से भारत के जनमानस में साँस फूंकने वाले मूर्धन्य लेखकों, कवियों, कवियेत्रियों के योगदान पर हम एक श्रृंखला करने जा रहे हैं. अगर आप किन्ही और महा-पुरुषों का नाम इस श्रृंखला में जोड़ेंगे तो आभारी रहूँगा

१. भारतेंदु हरिश्चन्द्र
२. भवानी प्रसाद मिश्र
३. गोपाल सिंह नेपाली
४. गोपालदास नीरज
५. गुलाब खंडेलवाल
६. हरिवंश राय बच्चन
७. जयशंकर प्रसाद
८. काका हाथरसी
९. केदारनाथ अग्रवाल
१०. केदारनाथ सिंह
११. महादेवी वर्मा
१२. मैथिली शरण गुप्त
१३. माखनलाल चतुर्वेदी
१४. अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
१५. जानकी वल्लभ शास्त्री
१६. नागार्जुन
१७. रामधारी सिंह दिनकर
१८. सच्चिदानंद वात्सायन
१९. शिवमंगल सिंह सुमन
२०. सुभद्रा कुमारी चौहान
२१. सुमित्रानंदन पन्त
२२. सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला
२३. मुंशी प्रेमचंद
२४. फनीश्वरनाथ रेणु
२५. देवकी नंदन खत्री
२६. राम बृक्ष बेनीपुरी
२७. शिवपूजन सहाय
२८. धर्मवीर भारती
२९. पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य
३०. कन्हैया लाल मिश्र,
३१. मनुभण्डारी,
३२. गजानन माधव मुक्तिबोध
३३. राजेन्द्र यादव
३४. हरिशंकर परसाई
३५. हजारीप्रसाद द्विवेदि
३६. रामचन्द्र शुक्ल
३७. राजेन्द्र उपाध्याय
३८. श्री मोहन राकेश
३९. कैलाश चन्द्रभाटिया
४०. व्रदाँवन लाल वर्मा
४१. इला चन्द्र जोशी
४२. शिवानी गौरा पन्त जी
४३. दुर्गेश पन्त
४४. जयशंकर प्रसाद
४५. चंद्रधर शर्मा गुलेरी
४६. हजारी प्रसाद द्विवेदी
४७. आरसी प्रसाद सिंह
४८. पोद्दार राम अवतार अरुण
४९. दुष्यंत कुमार
५०. आचार्य सुरेन्द्र झा 'सुमन'
५१. भगवती चरण वर्मा
५२. आचार्य छत्रसेन शास्त्री
५३. डा. शिवप्रसाद सिंह
५४. यशपाल
५५. सर्वेश्वरदयाल सक्सेना
५६. भिखारी ठाकुर
५७. सरोजनी नायडू

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

प्रेम जनमेजय होने का मतलब /

  मैं अगस्त 1978 की एक सुबह पांच बजे दिल्ली के अंतर्राज्यीय बस अड्डे पर उतरा था, किसी परम अज्ञानी की तरह, राजधानी में पहली बार,वह भी एकदम अक...