शुक्रवार, 14 अगस्त 2020

ऊर्जा का अर्थ / रंजन कुमार सिंह

 ऊर्जा / रंजन कुमार सिंह 

ऊर्जा का निर्माण या विनाश नहीं हो सकता, आइंस्टीन ने कहा था, और कृष्ण ने कहा, मैं ही क्यों, तुम और ये तमाम राजा-महाराजा अब से पहले भी थे और अब के बाद में भी होंगे। आत्मचिन्तन की सातवीं कड़ी आपके ध्यानार्थ 

https://youtu.be/94nRyBcPD_A

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

प्रेम जनमेजय होने का मतलब /

  मैं अगस्त 1978 की एक सुबह पांच बजे दिल्ली के अंतर्राज्यीय बस अड्डे पर उतरा था, किसी परम अज्ञानी की तरह, राजधानी में पहली बार,वह भी एकदम अक...