मंगलवार, 3 मई 2022

वो इंसान बुरा है 🙃🙃🙃

 "मंदिर"में दाना चुगकर चिड़ियां


प्रस्तुति - कमल शर्मा 

👍🏼👌🏽👌🏽✌🏼🙏🏿😀😀😀😀😃😃😃


"मस्जिद" में पानी पीती हैं

मैंने सुना है "राधा" की चुनरी 

कोई "सलमा"बेगम सीती हैं                         


एक "रफी" था महफिल महफिल 

"रघुपति राघव" गाता था 

एक "प्रेमचंद" बच्चों को

"ईदगाह" सुनाता था 


कभी "कन्हैया"की महिमा गाता

 "रसखान" सुनाई देता है 

औरों को दिखते होंगे "हिन्दू" और "मुसलमान"

मुझे तो हर शख्स के भीतर "इंसान"

दिखाई देता है...


क्योंकि...

ना हिंदू बुरा है ना मुसलमान बुरा है

जिसका किरदार बुरा है वो इन्सान बुरा है !!!🙃🙃🙃


सभी को ईद, अक्षय तृतीया , परशुराम जयन्ति की शुभकामनाएं  |


🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿🙏🏿

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

काश........

( *धीरे धीरे पढ़े.... पूरा पढ़कर बहुत सकूं मिलेगा ✍🏻✍🏻*) प्रस्तुति  - सीताराम मीणा  ▪︎प्यास लगी थी गजब की मगर पानी मे जहर था... पीते तो मर...