मंगलवार, 3 जनवरी 2023

कवि सम्मेलन से हुआ नये साल का आगमन

 

शिक्षक श्रीराम ने नव वर्ष कवि सम्मेलन का किया आयोजन


कवियों के रचनाकारों ने गुलजार हुई संध्या


नए वर्ष के आगमन के उपरांत ईश्वर चंद्र जायसवाल,संत कबीर नगर की अध्यक्षता में नव वर्ष काव्योत्सव का आयोजन कवि स्पर्श साहित्यिक मंच पर किया गया। जिसमें आगत कवि व कवियित्रियों के द्वारा नव वर्ष पर पेड़ लगाने से लेकर सामाजिक कुरीतियों को दूर करने संबंधित काव्य पाठ किए गए। महासचिव अरविंद अकेला,पटना ने आपस में मिल जुल कर रहने का संदेश दिया। जहां मुख्य अतिथि के रूप में डा ब्रजेंद्र नारायण द्विवेदी शैलेश ने मंच को अपना आशीर्वाद देते हुए कार्यक्रम का उद्घाटन किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में आकाश कुमार सिंह,समाजसेवी ने अंग्रेजी नव वर्ष पर सभा को संबोधित करते हुए सभी को नव वर्ष की शुभकामनाएँ दी। कवि स्पर्श साहित्यिक पटल पर शिक्षक सह वरीय कवि श्रीराम राय के द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया। वही इशिता सिंह,लखनऊ के द्वारा मंत्र मुग्धय करने वाला सरस्वती वंदना के साथ नव वर्ष कवि सम्मेलन प्रारंभ हुआ। कवि सम्मेलन में प्रथम स्थान पर डॉ गीता पांडे अपराजिता रायबरेली ने नव वर्ष के स्वागत में नव वर्ष के स्वागत में अपनी रचना प्रस्तुत की। इसके बाद नौशीन परवीन रायपुर ,जितेन्द्र परमार “जीत” ,उमेश कुमार श्रीवास, जयरामनगर, बिलासपुर छ. ग., यामिनी पाण्डे रायपुर, अमिता मिश्रा, बिलासपुर, छत्तीसगढ़, ईश्वर चंद्र जायसवाल, संत कबीर नगर (उत्तर प्रदेश) ,कवयित्री अन्नपूर्णा मालवीया (सुभाषिनी) प्रयागराज उत्तर प्रदेश,श्वेता दूहन देशवाल मुरादाबाद उत्तर प्रदेश ,प्रकाश कुमार मधुबनी’चंदन’,ललिता कुमारी वर्मा अविरल अलीगढ़ उत्तर प्रदेश ,सोनिया ओलाहन उत्तर प्रदेश,अर्चना अनुप्रिया, नयी.दिल्ली,गोवर्धन लाल बघेल टेढी़नारा छत्तीगढ़, राजेश तिवारी मक्खन झांसी उ प्र,सुधीर श्रीवास्तव गोण्डा उत्तर प्रदेश, खेमराज साहू ‘राजन ‘ दुर्ग, छत्तीसगढ़ ,मणि बेन द्विवेदी वाराणसी ,बालेश्वर राम चंद्रवंशी चतरा ,झारखंड , रंजुला चंडालिया कुमुदिनी महाराष्ट्र ,सनुक लाल यादव बालाघाट मध्य प्रदेश ,आशा झा सखी जबलपुर (मध्यप्रदेश), इशिता सिंह लखनऊ ,कलावती करवा षोडश कला,स्वाति जैसलमेरिया ,प्रीति हर्ष नागपुर ,रंजना बिनानी,आरती तिवारी दिल्ली ,मधु भूतड़ा ,मधु वैष्णव मान्या ,विद्या शंकर अवस्थी पथिक कानपुर , सुषमा सिंह, औरंगाबाद ,डॉ ब्रजेन्द्र नारायण द्विवेदी शैलेश वाराणसी , वी अरुणा, कोलकाता, जनार्दन शर्मा,इंदौर, भेरूसिंह चौहान “तरंग” झाबुआ(म. प्र.)रश्मि मिश्रा विदुषी छत्तीसगढ़ आदि तीन दर्जन से अधिक रचनाकारों ने नव वर्ष पर काव्य पाठ कर देश समाज को अपने संदेश दिए। कवि साहित्यकार अरविंद अकेला ने सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया साथ ही शिक्षक श्रीराम राय के द्वारा सभी को आकर्षक सम्मान पत्र भेंट किया गया।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

विश्व में हिंदी : संजय जायसवाल

  परिचर्चा ,  बहस  |  2 comments कवि ,  समीक्षक और संस्कृति कर्मी।विद्यासागर  विश्वविद्यालय ,  मेदिनीपुर में सहायक प्रोफेसर। आज  दुनिया के ल...