रविवार, 1 अगस्त 2021

दिल से जुड़ा दिल का रिश्ता ख़ास दोस्ती है...

 दिल से जुड़ा दिल का रिश्ता ख़ास दोस्ती है...

टूट न पाये जो कभी वो विश्वास दोस्ती है...

सर्दी में गुनगुनाती धूप सा अहसास दोस्ती है...

आंसुओं में लाये मुस्कान वो साथ दोस्ती है...

गिरते हुए को थाम ले वो हाथ दोस्ती है...

कड़ी धूप में घने पेड़ की छाया दोस्ती है...

मोती की माला में पिरोया अहसास दोस्ती है...

अहसासों में बंधे रिश्ते का विश्वास दोस्ती है...

जीवन के सफर की मुस्कान दोस्ती है...

दोस्तों से बनी पहचान दोस्ती है...

धड़कते दिल का अरमान दोस्ती है...

अटकी हुई सांसों की जान दोस्ती है...

दिल से दिल की पहचान दोस्ती हैं...

दिलों से मिला सम्मान दोस्ती हैं...

गैरों में अपनों का भान दोस्ती हैं...

छूं ले जज्बातों के आसमान दोस्ती हैं...

प्यार भरा पैगाम दोस्ती हैं...

दिये सा रोशन उजास दोस्ती हैं...

जिंदगी निखारने का सामान दोस्ती हैं....

ऐसे दोस्तों को समर्पित ये 'कलाम' भी तो दोस्ती है...!

मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें....!!

आप सभी का साथ यूँ ही बना रहे....!!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

तारीफ की सजा??

  ❤️*राजा की प्रंशंसा*❤️ प्रस्तुति -:उषा रानी & राजेंद्र प्रसाद सिन्हा  एक बार एक राजा के दरबार में एक कवि आया ! कवि  अत्यंत  गुणी और प्...