रविवार, 1 अगस्त 2021

कंस क़ो मारने के बाद

 कंस को मारने के बाद कृष्ण अपने माता-पिता वासुदेव और देवकी को मुक्त करने के लिए जेल गए


 देवकी ने कृष्ण से पूछा

प्रिय पुत्र तुम स्वयं महान भगवान हो  कंस को मारने और हमें मुक्त करने के लिए आपने चौदह वर्षों तक प्रतीक्षा क्यों की?


 कृष्ण ने उत्तर दिया 

आदरणीय माँ आपने मुझे हमारे पिछले जन्म में चौदह वर्षों के लिए वन क्यों भेजा किस कारण से?


 देवकी ने कहा कि तुम ऐसा क्यों कहते हो कि मैंने तुम्हें वन भेजा है  यह असंभव है


 तब कृष्ण ने कहा कि आप भूल गए हो कि पिछले जन्म में आप कैकेयी  और पिता दशरथ थे


 देवकी अवाक रह गई और  जिज्ञासा से पूछा इस जीवन में कौशल्या कौन है?


 कृष्ण ने उत्तर दिया  माता यशोदा


 कर्म का प्रभाव किसी को नहीं बख्शता  भगवान भी इसे बायपास नहीं कर सकते


 देखिए कर्म का नियम कितना बेदाग है।  *नित्य मुक्ति* ही उपाय है।


🌹‼️🙏जय श्री कृष्णा जी🙏‼️🌹

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

प्रवीण परिमल की काव्य कृति तुममें साकार होता मै का दिल्ली में लोकार्पण

 कविता के द्वार पर एक दस्तक : राम दरश मिश्र  38 साल पहले विराट विशाल और भव्य आयोज़न   तुममें साकार होता मैं 💕/ प्रवीण परिमल   --------------...