मंगलवार, 9 नवंबर 2021

खबर ही खबर / सूरज यादव

सुधा ब्रांड के दूध, पनीर, मिल्क केक, पेड़ा, गुलाब जामुन और बालूशाही सब महंगा ।


प्रति लीटर दूध पर तीन और चार रुपये, पनीर का 200 ग्राम का प्रति पैकेट पांच रुपये तथा एक किलो गुलाब जामुन की कीमत में दस रुपये की वृद्धि की गई है। इन उत्पादों की नई दरें 11 नवंबर से लागू होंगी। वहीं  घी, लस्सी, दही के सभी प्रकार, मक्खन और फ्लेवर्ड मिल्क की कीमत में बढ़ोतरी नहीं की गई है। 


बिहार स्टेट मिल्क को-ऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड (कॉम्फेड) ने सुधा उत्पादों की नई दर का आदेश जारी कर दिया है। दूध के आधा लीटर पैकेट पर दो रुपये की वृद्धि की गई है।

 कॉम्फेड ने जारी आदेश में कहा है कि दूध उत्पादकों की लंबे समय से मांग थी कि उन्हें दी जाने वाली कीमत में वृद्धि की जाये। इसी को देखते हुए कॉम्फेड प्रोग्रामिंग कमिटी की बैठक, जिसमें सभी संघों के प्रबंध निदेशक उपस्थित थे, में दूध संग्रहण और पैकेट बंद सुधा दूध के उपभोक्ता दरों में वृद्धि का निर्णय लिया गया है। इसके पहले सात फरवरी, 2021 को सुधा के उत्पाद की कीमत बढ़ाई थी। 


दूध उत्पादकों को दी जाने वाली राशि में प्रति किलो दूध पर दो रुपये 32 पैसे की वृद्धि की गई है, जो अब 33 रुपये 25 पैसे हो जाएगा। यह वृद्धि चार प्रतिशत फैट एवं 8.5 प्रतिशत एनएनएफ के दूध क्रय पर उत्पादकों को मिलेगा। इसी प्रकार छह प्रतिशत फैट एवं नौ प्रतिशत एनएनएफ के दूध पर उत्पादकों को अब 40 रुपये 20 पैसा प्रति किलो दिया जाएगा


खरना सम्पन्न


*लोक आस्था के चार दिवसीय महापर्व छठ के दूसरे दिन मंगलवार को कार्तिक शुक्ल* पंचमी पर मुख्य पूजा खरना सम्पन्न हुआ। बुधवार की शाम तीसरे दिन कार्तिक शुक्ल षष्‍ठी को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। गुरुवार चौथे दिन, कार्तिक शुक्ल सप्‍तमी को उदयगामी सूर्य को अर्घ्य देने के बाद महापर्व छठ का समापन होगा। 


आचार्य प्रियेन्दू प्रियदर्शी के अनुसार अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने का समय शाम में 4:30 से 5:26 के बीच और उदयकालीन अर्घ्य सुबह 6:34 बजे से है। शाम वाला अर्घ्य गंगा जल से दिया जाता और उदय कालीन अर्घ्य कच्चे दूध और मीठे जल से देना चाहिए। इधर खरना को लेकर छठ व्रतियां पूरे दिन उपवास पर रहकर मिट्टी के चूल्हे और आम की लकड़ी पर खरना का प्रसाद बनाया। छठ व्रतियां खरना के समय अनुसार शाम 5:45 से 6:25 तक छठी मैय्या को प्रसाद के रूप में तैयार गुड़ से बनी खीर, रोटी और केला का भोग लगाकर पूजा-अर्चना की और प्रसाद को ग्रहण किया। व्रतियों का इसके साथ हीं 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हुआ।


तेजस्वी जन्मदिन


: *राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव के बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव का आज* जन्मदिन है। इस मौके पर जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव को अलग अंदाज में जन्मदिन की बधाई दी है। पप्पू यादव ने कहा है कि तेजस्वी यादव को जन्मदिन की बहुत बहुत बहुत-बहुत बधाई हो। लेकिन, वह पहले इंसान बनें। हाजीपुर सर्किट हाउस में तेजस्वी यादव को जन्मदिन की बधाई देते हुए पप्पू यादव ने कहा कि बड़े बाप का बेटा होने से कुछ नहीं होता है। केवल कर्म योगियों को ही सफलता मिलती है भाग्य से जीने वाले विजेता नहीं बनते हैं। यही दुनिया का इतिहास है। 


पप्पू यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव अपने अहंकार क्रोध नफरत का त्याग करें वे स्वयं भी खुश रहें और दूसरों को भी खुश रहने दें। पप्पू यादव ने यहां तक कह दिया कि तेजस्वी यादव ने हुई यादव में जबरदस्त अज्ञानता भरी हुई है जन्मदिन के मौके पर वे अपनी अज्ञानता को दूर करें और ज्ञान लेने का प्रयास करें। उन्होनें आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव में एकोअहम का अहंकार भर गया है। 



मुस्लिम महिलाएं भी रखती हैं छठ व्रत 


 *बिहार के समस्‍तीपुर के एक गांव में हिन्‍दुओं के साथ मुस्लिम* महिलाएं भी व्रत रखती हैं। छठ के पारंपरि‍क गीतों को गाते हुए महिलाएं जब अर्घ्‍य देने निकलती हैं तो उनकी मदद हिंदू ग्रामीण करते हैं। बताते हैं कि मोरवा प्रखंड के ररियाही पंचायत के कुमैया गांव में करीब 20 वर्षों से यह परंपरा चली आ रही है। 


गांववाले के मुताबिक मुस्लिम महिलाओं के बीच छठ व्रत की शुरुआत गांव में साजिदा खातून ने कराई थी। उनकी प्रेरणा से छह-सात मुस्लिम महिलाओं ने व्रत रखना शुरू कर दिया। बताते हैं कि वर्ष-2000 में उनके पति को पेट की बीमारी हो गई थी। कई डॉक्‍टरों को दिखाने के बाद भी जब वह ठीक नहीं हुए तो गांव की कुछ महिलाओं ने उन्‍हें छठ में मन्‍नत मांगने की सलाह दी। साजिदा ने ऐसा ही किया। कुछ समय बाद पति ठीक हो गए तो महिलाओं ने व्रत रखने की सलाह दी। साजिदा ने उसी साल पोखरे के पानी में खड़े होकर व्रत का संकल्‍प लिया। इसके बाद साजिदा नियमित रूप से छठ व्रत रखने लगीं।


छपरा जेल में छठ 


छपरा जेल में इस बार भी छठी मैया के गीत गूंज रहे हैं। मुस्लिम महिला समेत 56 महिलाओं-पुरुषों ने इस बार छठ व्रत रखा है। इसे लेकर जेल प्रशासन की ओर से छठ पूजा की सभी आवश्यक सामग्री उपलब्ध करायी गई है। जेल परिसर के तालाब की साफ सफाई कर चकाचक बनाया गया है। रोशनी की भी व्यवस्था की गयी है। प्रशासनिक व्यवस्था व कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए व्रत धारियों को व्रत करने का निर्देश दिया गया है। जेल अधीक्षक रामाधार सिंह बताया कि 35 महिला 20 पुरुष व एक किन्नर छठ व्रत करेंगे। हर साल की भांति इस बार भी छठ पूजा को लेकर जेल में चहल पहल है। महिला और पुरुष बंदी के लिए अलग घाट बनाया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

हरिवंशराय बच्चन

हरिवंशराय बच्चन  की 114वीं जयंती है.... इलाहाबाद के दिनों में हरिवंश राय बच्चन की सबसे अधिक निकटता शमशेर बहादुर सिंह सिंह,  पंडित नरेन्द्र श...